Divyendu's Blog

My Blog

Divyendu Rai is an Indian author, socio-political activist. He is known for his Social Works and his book Lockdown : Ek Ankahi Dastaan

सरकार को निशुल्क दवाईयों के नाम पर खानापूर्ति करने से बाज आना होगा, साथ ही ध्यान रखना होगा कि भविष्य में कोई एम्बुलेंस की अभाव में न मरे।
Divyendu Rai Lockdown : Ek Ankahi Dastaan

इस देश में सरकारी योजनाओं का लाभ जरूरतमन्दों को उनकी जाति देखे बिना मिलता तो हालात इतने बुरे नहीं होते।
Divyendu Rai Lockdown : Ek Ankahi Dastaan

समाजसेवी दो प्रकार के होते हैं, वास्तविक एवं कृत्रिम।
Divyendu Rai Lockdown : Ek Ankahi Dastaan

और डालीबाग छूट गया…

मानव जीवन में आना जाना, पाना छूटना आजीवन लगा रहता है एवं ऐसी परिस्थियों का सामना अधिकांशत: लोगों को करना पड़ता है। 2017 के...

Read More

राजभवन से रायसीना तक

द्रोपदी मुर्मू के देश की 15वीं राष्ट्रपति बनने के बाद एक नई बहस ने अपना स्थान बना लिया है कि उनके राष्ट्रपति बनने से...

Read More

Last to First

Draupadi Murmu became the 15th President of the country, after her presidential nomination a new debate has taken its place that how much benefit...

Read More

दो हरियों का घाट दोहरीघाट

दोहरीघाट की ऐतिहासिकता के बारे में बताते हैं कि दो हरियों भगवान राम और भगवान परशुराम के मिलन से दोहरीघाट का नामकरण हुआ। उत्तर...

Read More

न्याय का संघर्ष

भारतीय संविधान विश्व के सबसे महान कहे जाने वाले संविधानों में से एक है लेकिन इसी भारतीय संविधान के तहत न्यायपालिका के कुछ फ़ैसले...

Read More

Divyendu Rai

Rai’s first novel, Lockdown, was published in 2020. Written in Hindi, it depicts the difficulties of the Civilians during Lockdown.